Threads: ट्विटर को टक्कर देने Facebook/Meta द्वारा लॉन्च ऐप

Facebook विश्व में अपना छाप छोड़ चुका है। लोग facebook के दीवाने हैं। व्यक्ति कही जाए या ना जाय, कुछ देखो या ना देखो लेकिन Facebook जरूर देखता है। यह इस app की लोकप्रियता ही है जिसे “मार्क जुकरबर्ग” द्वारा लॉन्च किया गया था । लेकिन फेसबुक अपनी गति/बिजनेस को और बढ़ाना चाहता है इसके लिए Facebook/Meta द्वारा ट्विटर को टक्कर देने के लिए एक नया ऐप “Threasd” लॉन्च किया गया है जिसे लोगो ने बहुत पसंद किया है और लॉच होने से अबतक मिलियन से ज्यादा डाउनलोड भी हो चुका है। यह ट्विटर के समान ही टेक्स्ट बेस्ड कन्वर्सेशन एप्लीकेशन है। इसमें भी ट्विटर के समान ट्रेड्स मैसेज कर सकते है। लाइक, रिप्लाई और फॉलो कर सकते है। इस एप्लीकेशन को इंस्टाग्राम से जोड़ा गया है ताकि इसे शीघ्रतापूर्क लोकप्रिय बनाया जा सके या ज्यादा से ज्यादा लोगो को शामिल किया जा सके।

Threads के फीचर्स:

थ्रेड्स ऐप के सभी फीचर्स करीब – करीब ट्विटर के बराबर है, जैसे:–

  • इसमें भी पोस्ट “टेस्ट, फोटो आदि के रूप में भेजा जा सकता है।
  • इसमें भी पोस्ट से संबंधित थ्रेड्स बनाया जा सकता है मतलब पोस्ट के just नीचे लगातार पोस्ट किया जा सकता है।
  • एक पोस्ट में अधिकतम 500 कैरेक्टर शामिल किया जा सकता है।
  • इस ऐप में उपयोगकर्ता लाइक, रिप्लाई और थ्रेड्स के रूप में Quote post कर सकता है।
  • इसमें पोस्ट या थ्रेड्स को ट्विटर से भी ज्यादा प्राइवेट या सिक्योर करने का सिस्टम है। उपयोग अपने अनुसार किसी को पोस्ट दिखा सकता है, किसी को नहीं दिखा सकता है, रिप्लाई देने का ऑप्शन दे सकता है और नही भी दे सकता है।

Threads द्वारा ऑडियंस को कनेक्ट करना

  • ऐसे लोग जो ट्विटर का ऑप्शन चुन रहे थे, थ्रेड्स पर अपनी राय रख सकते है।
  • ऐसे लोग जो अपना मैसेज को ज्यादा “प्राइवेट और सिक्योर” रखना चाहते है, थ्रेड्स का इस्तेमाल कर सकते है।
  • जो व्यक्ति अपना फॉलोअर बढ़ाना चाहते है वो इंस्टाग्राम से इसे आसानी से कनेक्ट कर सकते है और अपना फॉलोअर बढ़ा सकते है।

Threads के समान और प्रतिद्वंदी एप्लीकेशन

इस एप्लीकेशन को वास्तव में ट्विटर के option या rival के लिए बनाया गया है लेकिन फोटो और टेक्स्ट बेस्ड कई अन्य फेमस ऐप जैसे ” Discord और Slack” है जिसके साथ Threads का कंपटीशन हो सकता है।

Threads का Future क्या हो सकता है या क्या यह एप्लीकेशन, ट्विटर को टक्कर दे सकता है!

  • थ्रेड्स में ट्विटर की तुलना में ज्यादा प्राइवेसी है इसलिए जो लोग ज्यादा प्राइवेसी चाहते हैं वो निश्चित तौर पर थ्रेड्स को अपनाएंगे।
  • चुकी ट्विटर एक फोटो और टेक्स्ट बेस्ड एप्लीकेशन है और इसमें राजनीतिक लोग ज्यादा रहते है इसलिए कभी – कभी ट्विटर भी राजनीति में शामिल हो जाता है। ऐसी स्तिथि कई बार ट्विटर का विरोध देखा जा चुका है।
  • ऐसे लोग जो ट्विटर को पसंद नही करते है, वे निश्चित तौर पर Threads को ज्वाइन करेंगे।
  • जो लोग इंस्टाग्राम चलाते है, ज्यादा चांसेस है कि ऐसे लोग Threads को ज्वाइन करे।
  • Threads एक विश्वव्यापी एप्लीकेशन है और दुनिया में इसकी Validity है इसलिए भी लोग इसे निसंकोच ज्वाइन करेंगे।

कुल मिलाकर बोले तो Threads का भविष्य उज्ज्वल है इसे किसी के Competition से कोई फर्क पड़ने वाला नही है लेकिन भविष्य में क्या होगा, ये निश्चित तौर पर कह पाना मुश्किल है।।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Translate »

Discover more from News special

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

Scroll to Top